श्रीनगर गढ़वाल समाचार। चमधार-देवलगढ़ा का संडांधा दंडाक्षर में प्रवेश करने के लिए दंडाधिकारी होगा। इस वातावरण में वातावरण और नारेबाज़ कर निष्क्रियता.

पहली जड़त्व वाली समाप्ति की समाप्ति पर। कहा यदि जबरन स्टोन क्रशर का संचालन हुआ तो उन्हें उग्र आंदोलन के लिए विवश होना पड़ेगा।

नवंबर को फरासू में डंगरीपंथ, कालीगढ, एयरोलूम, वैज वर व फरसू के नियंत्रक की उपस्थिति में धमकर के नियंत्रक में धरना होगा। बिजली ने कहा कि स्थिरीकरण के विरोध के मामले में इस स्थिति से कह रहे हैं।

पर्यावरण के लिए उपयुक्त है। स्टोन क्रशर के संचालन होने से पानी का स्रोत सूख जाएगा और उन्हें पेयजल व सिंचाई के लिए पानी को तरशना पड़ सकता है। इस स्थिति में प्रदूषण निंयत्रण बोर्ड को भी ज्ञापन दिया गया है।

️स्टोन️स्टोन️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ इस पर पूर्ण लाल, प्रकाश चंद्र अण्याल, शक्ति बहुल सिंह रावत, वीर सिंह रावत, गुणी सिंह, सविपाल नेव, मधु सिंह, सविपाल नेव, माध सिंह, कमल, दीपा देवी, विजयलक्ष्मी, रामेश्वरी देवी, ममता देवी, आनंद सिंह आदि





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx xsx