सीबीडीटी ने इलेक्ट्रॉनिक फाइलिंग में आ रही कई दिक्कतों को देखते हुए यह फैसला किया है। बता दें कि आयकर विभाग की नई वेबसाइट बनने के बाद से करदाताओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था.

ऑनलाइन आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि बढ़ाई गई: टैक्सपेयर्स और अन्य स्टेकहोल्डर्स के लिए एक बड़ी राहत भरी खबर है। CBDT यानी सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) ने इनकम टैक्स एक्ट के तहत कई जरूरी फॉर्म भरने की डेडलाइन एक बार फिर बढ़ा दी है. इलेक्ट्रॉनिक फाइलिंग के लिए यह समय सीमा बढ़ा दी गई है।

दरअसल, इलेक्ट्रॉनिक फाइलिंग में आ रही कई दिक्कतों को देखते हुए सीबीडीटी ने यह फैसला लिया है। आयकर विभाग की नई वेबसाइट तैयार होने के बाद से करदाताओं को तकनीकी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था और वे बार-बार इसकी शिकायत कर रहे थे. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वेबसाइट को पूरी तरह से ठीक करने के लिए इंफोसिस को 15 सितंबर तक का समय दिया है।

हालांकि, सीबीडीटी द्वारा आयकर अधिनियम, 1961 के तहत कई फॉर्मों को इलेक्ट्रॉनिक रूप से दाखिल करने की समय सीमा बढ़ाने से लाखों लोगों को राहत मिलेगी। इस संबंध में सीबीडीटी ने सर्कुलर जारी कर आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर जानकारी दी है।

यहां देखें विभाग का सर्कुलर

किन प्रपत्रों के लिए समय सीमा बढ़ा दी गई है

  1. आयकर के धारा 10(23सी), 12ए, 35(1)(ii)/(ii)/(iii) या 80जी के तहत फॉर्म संख्या। 10ए में पंजीकरण या सूचना की अंतिम तिथि 30 जून 2021 थी, जिसे बढ़ाकर 31 मार्च 2022 कर दिया गया है।
  2. आयकर अधिनियम की धारा 10(23सी), 12ए या 80जी के तहत फॉर्म 10एबी में पंजीकरण या अनुमोदन की समय सीमा, जो पहले 28 फरवरी 2022 थी, को बढ़ाकर 31 मार्च 2022 कर दिया गया है।
  3. वित्तीय वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के दौरान फॉर्म 15G/15H में प्राप्तकर्ताओं से घोषणाओं को अपलोड करने की समय सीमा 15 जुलाई, 2021 से बढ़ाकर 30 नवंबर, 2021 कर दी गई है।
  4. वहीं, वित्तीय वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही के दौरान प्राप्तकर्ताओं से प्राप्त घोषणाओं को फॉर्म संख्या 15जी/15एच में अपलोड करने की समय सीमा 15 अक्टूबर 2021 से बढ़ाकर 31 दिसंबर 2021 कर दी गई है।
  5. वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए फॉर्म नंबर 1 में इक्वलाइजेशन लेवी स्टेटमेंट दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 अगस्त 2021 से बढ़ाकर 31 दिसंबर 2021 कर दी गई है।
  6. वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के लिए प्रेषण के संबंध में अधिकृत डीलर द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले फॉर्म नंबर 15CC तिमाही के विवरण की समय सीमा 31 अगस्त, 2021 से बढ़ाकर 30 नवंबर, 2021 कर दी गई है।
  7. वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही के लिए प्रेषण के संबंध में अधिकृत डीलर द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले फॉर्म नंबर 15CC तिमाही का विवरण दाखिल करने की समय सीमा 15 अक्टूबर, 2021 से बढ़ाकर 31 दिसंबर, 2021 कर दी गई है।
  8. 30 जून, 2021 को समाप्त तिमाही के लिए देश में किए गए निवेश में पेंशन फंड द्वारा फॉर्म नंबर 10BBB में रिपोर्टिंग की समय सीमा अब 31 जुलाई, 2021 से बढ़ाकर 30 नवंबर, 2021 कर दी गई है।

सॉवरेन वेल्थ फंड के संबंध में

सॉवरेन वेल्थ फंड्स द्वारा देश में किए गए निवेश के संबंध में वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के लिए फॉर्म II एसडब्ल्यूएफ जानकारी प्रस्तुत करने की समय सीमा, जो 15 जुलाई 2021 थी, को बढ़ाकर 30 नवंबर 2021 कर दिया गया है।

इसी तरह सॉवरेन वेल्थ फंड द्वारा ही देश में किए गए निवेश के संबंध में वित्तीय वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही के लिए फॉर्म II एसडब्ल्यूएफ जानकारी प्रस्तुत करने की समय सीमा 31 अक्टूबर 2021 थी, जिसे बढ़ाकर 31 दिसंबर 2021 कर दिया गया है।





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *